CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon


Question

Private enterprise will not undertake investments in social overheads. The reason is that the returns from them in the form of an increase in the supply of technical skills and higher standards of education and health can be realized only over a long period. Besides, these returns will accrue to the whole society rather than to those entrepreneurs who incur the necessary large expenditure on the creation of such costly social overheads.

Therefore, investment in them is not profitable from the standpoint of the private entrepreneurs, howsoever productive it may be for the broader interest of the society.

Q35. Which among the following is the most logical corollary to the above passage?

निजी उपक्रम सामाजिक उपरिव्यय में निवेश नहीं करेगा। इसका कारण यह है कि प्रौद्योगिकीय कौशलों की आपूर्ति में वृद्धि तथा शिक्षा की उच्चतर गुणवत्ता और स्वास्थ्य के रूप में उनसे प्रत्याय केवल दीर्घावधि में साधित हो सकते हैं। इसके अतिरिक्त, ये प्रत्याय उन उद्यमियों, जो इतने महँगे सामाजिक उपरिव्यय के सृजन पर आवश्यक भारी खर्च करते हैं, की बजाय संपूर्ण समाज को प्राप्त होगा।

इसलिए इसमें निजी निवेश, उद्यमियों के दृष्किोण से लाभदायक नहीं होता है, यह समाज के व्यापक हित के लिए कितना भी उत्पादक हो।

Q. निम्नलिखित में से कौन-सा, उपर्युक्त परिच्छेद का सर्वाधिक तार्किक उपनिगमन (कोरोलरी) है?
  1. Only participation of the government by way of investment in social overheads can improve the rate of development.

    सामाजिक उपरिव्यय में निवेश के माध्यम से केवल
    सरकार की सहभागिता विकास की दर को उन्नत कर सकती है।
  2. Investment in social overheads cannot be left to the private sector alone as they do not achieve the profit which is the only motive of the private sector.

    सामाजिक उपरिव्यय में निवेश केवल निजी क्षेत्र पर नहीं छोड़े जा सकते हैं, क्योंकि वे निजी क्षेत्र के केवल-लाभ के उद्देश्य को प्राप्त नहीं कर सकते हैं।
  3. Private enterprise would invest in social initiatives if the returns on investment would be accrued mostly by the enterprise alone.

    निजी उपक्रम सामाजिक पहलों में निवेश करेंगे, यदि ये प्रत्याय केवल उपक्रम द्वारा अधिकतर प्रयुक्त होंगे।
  4. Social overheads cover issues that can make the population more employable by private enterprise and so private enterprise may invest in these overheads.

    सामाजिक उपरिव्यय उन मुद्दों को आच्छादन करता है, जो निजी उपक्रम द्वारा जनसंख्या को अधिक नियोजनीय बना सकता है और इसलिए निजी उपक्रम इन ऊपरी खर्च में निवेश कर सकता है।


Solution

The correct option is C Private enterprise would invest in social initiatives if the returns on investment would be accrued mostly by the enterprise alone.

निजी उपक्रम सामाजिक पहलों में निवेश करेंगे, यदि ये प्रत्याय केवल उपक्रम द्वारा अधिकतर प्रयुक्त होंगे।
Option (c) is the correct choice. Option (a) is incorrect as we cannot infer that the passage implies that purley government investments are required. It can imply NGO or multilateral institutions the passage only speaks of returns. No mention of profits, which is a narrower terms than returns, is made. Option (d) extends beyond the scope of the passage. Option (c) is a correct corollary of the actions of the private sector as are given in the passage.

विकल्प (c) सही चयन है। विकल्प (a) गलत है, क्योंकि हम नतीजा नहीं निकाल सकते हैं कि परिच्देद विशुद्ध रूप से सरकारी निवेश की आवश्यकता को अंतर्निहित करता है। यह गैर सरकारी संगठन (NGO) या बहुपक्षीय संस्थानों को भी निहित कर सकता है। विकल्प (b) भी गलत है, क्योंकि परिच्छेद केवल प्रत्याय के बारे में कहता है। लाभ, जो प्रत्याय की अपेक्षा संकुचित शब्द है, का उल्लेख नहीं किए गए हैं। विकल्प (d) परिच्छेद के विषय-क्षेत्र के परे विस्तृत है। विकल्प (c) निजी क्षेत्र की कार्यवाही का सही उपनिगमन है, जैसा की परिच्छेद में दिए गए हैं।

flag
 Suggest corrections
thumbs-up
 
0 Upvotes


Similar questions
QuestionImage
All India Test Series
Q1.
Private enterprise will not undertake investments in social overheads. The reason is that the returns from them in the form of an increase in the supply of technical skills and higher standards of education and health can be realized only over a long period. Besides, these returns will accrue to the whole society rather than to those entrepreneurs who incur the necessary large expenditure on the creation of such costly social overheads.

Therefore, investment in them is not profitable from the standpoint of the private entrepreneurs, howsoever productive it may be for the broader interest of the society.

Q36. According to the passage, private sector will not invest in social overheads because

निजी उपक्रम सामाजिक उपरिव्यय में निवेश नहीं करेगा। इसका कारण यह है कि प्रौद्योगिकीय कौशलों की आपूर्ति में वृद्धि तथा शिक्षा की उच्चतर गुणवत्ता और स्वास्थ्य के रूप में उनसे प्रत्याय केवल दीर्घावधि में साधित हो सकते हैं। इसके अतिरिक्त, ये प्रत्याय उन उद्यमियों, जो इतने महँगे सामाजिक उपरिव्यय के सृजन पर आवश्यक भारी खर्च करते हैं, की बजाय संपूर्ण समाज को प्राप्त होगा।

इसलिए इसमें निजी निवेश, उद्यमियों के दृष्किोण से लाभदायक नहीं होता है, यह समाज के व्यापक हित के लिए कितना भी उत्पादक हो।

Q.  परिच्छेद के अनुसार, निजी क्षेत्र सामाजिक, उपरिव्यय में निवेश नहीं करेगा, क्योंकि :
QuestionImage
View More...



footer-image