CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon


Question

Q. Consider the following statements with reference to Union Executive in India:

  1. Council of Ministers have to resign if a single minister loses confidence of the House.
  2. The Prime Minister has to communicate all decisions of the Council of Ministers to the President. 
  3. The Council of Ministers continues to exist even after the death of the Prime Minister or any other Minister.

Which of the above given statements is/are incorrect?

Q. भारतीय संघ कार्यपालिका के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें: 

  1. यदि किसी एक मंत्री ने सदन में विश्वास खो दिया तो मंत्रिपरिषद को त्यागपत्र देना पड़ता है।
  2. प्रधानमंत्री को मंत्रिपरिषद के सभी फैसलों को राष्ट्रपति को सूचित करना होता है।
  3. प्रधान मंत्री या किसी अन्य मंत्री की मृत्यु के बाद भी मंत्रिपरिषद का अस्तित्व बना रहता है।

ऊपर दिए गए कथनों में से कौन सा / से गलत है / हैं?



  1. 1 and 3 only
    केवल 1 और 3

  2. 2 only
    केवल 2 

  3. 1 and 2 only
    केवल 1 और 2

  4. 3 only 
    केवल 3


Solution

The correct option is D
3 only 
केवल 3
Explanation:

Statement 1 is correct: The Council of Ministers is collectively responsible to the LokSabha. This provision means that if a Minister loses confidence in the Lok Sabha it is obliged to resign. The principle indicates that the ministry is an executive committee of the Parliament and it collectively governs on behalf of the Parliament. Principle of the solidarity of the cabinet is the basis of Collective responsibility. It implies that even if a single minister loses confidence in the House, the entire Council of Ministers will have to resign.

Statement 2 is correct: The Prime Minister acts as a link between the Council of Ministers on the one hand and the Parliament as well as the President on the other. It is this role of the Prime Minister which led Pt. Nehru described him as ‘the linchpin of Government’. It is also the constitutional obligation of the Prime Minister to communicate to the President all decisions of the Council of Ministers relating to the administration of the affairs of the Union and proposals for legislation.

Statement 3 is incorrect: In India, the Prime Minister enjoys a pre-eminent place in the government. The Council of Ministers cannot exist without the Prime Minister. The Council comes into existence only after the Prime Minister has taken the oath of office. The death or resignation of the Prime Minister brings about the dissolution of the Council of Ministers automatically, but the demise, dismissal or resignation of a minister only creates a ministerial vacancy.

व्याख्या :

कथन1 सही है: मंत्रिपरिषद सामूहिक रूप से लोकसभा के प्रति जिम्मेदार है। इस प्रावधान का मतलब है कि अगर कोई मंत्री लोकसभा में विश्वास खो देता है तो वह इस्तीफा देने के लिए बाध्य है।सिद्धांत इंगित करता है कि मंत्रालय संसद की एक कार्यकारी समिति है और यह संसद की ओर से सामूहिक रूप से शासन करता है। कैबिनेट की एकजुटता का सिद्धांत सामूहिक जिम्मेदारी का आधार है। तात्पर्य यह है कि यदि एक भी मंत्री सदन में विश्वास खो देता है, तो भी पूरे मंत्रिपरिषद को त्यागपत्र देना होगा।

कथन 2 सही है: प्रधानमंत्री एक ओर मंत्रिपरिषद और दूसरी ओर संसद के साथ-साथ राष्ट्रपति के बीच एक कड़ी के रूप में कार्य करता है।  प्रधान मंत्री की भूमिका के कारण पं. नेहरू ने उन्हें 'सरकार की वंशावली' के रूप में वर्णित किया। संघ द्वारा  प्रशासन से संबंधित मंत्रिपरिषद के सभी फैसलों और कानून के प्रस्तावों के बारे में राष्ट्रपति को सूचित करना भी प्रधानमंत्री का संवैधानिक दायित्व है।

कथन 3 गलत है: भारत में, प्रधान मंत्री को सरकार में एक पूर्व-प्रतिष्ठित स्थान प्राप्त है। प्रधानमंत्री के बिना मंत्रिपरिषद का अस्तित्व नहीं हो सकता। प्रधानमंत्री के पद की शपथ लेने के बाद ही परिषद अस्तित्व में आती है। प्रधान मंत्री की मृत्यु या त्यागपत्र से मंत्रिपरिषद का स्वतः विघटन हो जाता है, लेकिन किसी मंत्री का निधन, बर्खास्तगी या त्यागपत्र से केवल मंत्री पद खाली होता है।

flag
 Suggest corrections
thumbs-up
 
0 Upvotes


Similar questions
View More



footer-image