CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon


Question

Q. The certificate of essentiality and a certificate of eligibility seen in news is related to which of the following bills? 

Q. समाचारों में रहे “अनिवार्यता प्रमाण-पत्र” और “पात्रता प्रमाण-पत्र” निम्नलिखित में से किस विधेयक से संबंधित है?



Your Answer
A


Aadhaar and Other Laws (Amendment) Bill, 2019 
आधार और अन्य कानून (संशोधन) विधेयक, 2019
 
Your Answer
B
Right to Information (Amendment) Bill, 2019
सूचना का अधिकार (संशोधन) विधेयक, 2019
Correct Answer
C

Surrogacy (Regulation) Bill, 2019
सरोगेसी (विनियमन) विधेयक, 2019
Your Answer
D

Consumer Protection Bill, 2019
उपभोक्ता संरक्षण विधेयक, 2019

Solution

The correct option is A
Surrogacy (Regulation) Bill, 2019
सरोगेसी (विनियमन) विधेयक, 2019

Explanation:

The Surrogacy (Regulation) Bill, 2019 was introduced in the Lok Sabha earlier this month by the Ministry of Health and Family Welfare. It prohibits commercial surrogacy, but allows altruistic surrogacy. The couples should have a certificate of essentiality and a certificate of eligibility issued by the appropriate authority.

  • Certificate of eligibility –They must be Indian citizens and married for at least 5 years; Wife - 23 to 50 years old and Husband - 26 to 55 years old and they do not have any surviving children.
  • Certificate of essentiality – A certificate of proven infertility of one or both of the couple from a District Medical Board and an order of parentage and custody of the surrogate child passed by a Magistrate‘s court. 

व्याख्या:

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा इस महीने की शुरुआत में लोकसभा में सरोगेसी (विनियमन) विधेयक, 2019 पेश किया गया था।यह वाणिज्यिक सरोगेसी को प्रतिबंधित करता है, लेकिन परोपकारी सरोगेसी की अनुमति देता है।इसके लिए दम्पतियों के पास उपयुक्त प्राधिकारी द्वारा जारी “अनिवार्यता प्रमाण-पत्र” और “पात्रता प्रमाण-पत्र” का होना आवश्यक है। 

पात्रता प्रमाण-पत्र: इसके लिए आवश्यक है कि दम्पति भारतीय नागरिक हों तथा इनका विवाह कम-से-कम 5 साल पहले हुआ हो।पत्नी की उम्र 23 से 50 वर्ष और पति का उम्र 26 से 55 वर्ष होनी चाहिए तथा उनका कोई जीवित संतान नहीं हो।

अनिवार्यता प्रमाण-पत्र : दंपति में से एक या दोनों के लिए जिला मेडिकल बोर्ड द्वारा जारी सिद्ध बांझपन का प्रमाण पत्र तथा सरोगेट बच्चे के पालन-पोषण और अभिभावकता के लिए मजिस्ट्रेट की अदालत द्वारा जारी आज्ञा पत्र का होना आवश्यक है।

flag
 Suggest corrections
thumbs-up
 
0 Upvotes


Similar questions
View More


People also searched for
View More



footer-image