CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon


Question

Q. What can be the characteristics of pollutants for the occurrence of biomagnification?

1. Soluble in water
2. Biologically active
3. Short-lived
4. Mobile

Select the correct answer using the code given below:

Q. जैव-आवर्धन की घटना के लिए प्रदूषकों की क्या विशेषताएं हो सकती हैं?

1. पानी में घुलनशील
2. जैविक रूप से सक्रिय
3. अल्पकालिक
4. गतिशील

नीचे दिए गए कूट का उपयोग करके सही उत्तर चुनें:

  1. 1 and 2 only
    केवल 1 और 2

  2. 1, 2, 3 and 4 
    1, 2, 3 और 4

  3. 2 only
    केवल 2

  4. 2 and 4 only
    केवल 2 और 4


Solution

The correct option is D
2 and 4 only
केवल 2 और 4
Explanation:

Biomagnification refers to the ability of living organisms to accumulate certain chemicals in large concentrations than that occurring in their inorganic, non-living environment. Normally, organisms accumulate chemicals needed for their nutrition, but the focus of biomagnification is on the accumulation of some non-essential chemicals.

Statement 1 is incorrect: In order for biomagnification to occur, the pollutants should be soluble in fat and not in water because if they will be soluble in water, then it will be excreted by the organism.

Statement 2 is correct: Pollutant can be both biologically active or inactive for the occurrence of biomagnification. The difference is if a pollutant is not active biologically, although it may biomagnify, it will not create any harm. If it is biologically active, it will harm living organisms.

Statement 3 is incorrect: In order for biomagnification to occur, the pollutants must be long-lived because if a pollutant is short-lived, it will be broken down before it can become dangerous.

Statement 4 is correct: In order for biomagnification to occur, the pollutants must be mobile because if it is not mobile, it will stay in one place and is unlikely to be taken up by organisms.

व्याख्या :

जैव-आवर्धन जीवित जीवों की क्षमता को उनके अकार्बनिक निर्जीव वातावरण की तुलना में बड़ी मात्रा में कुछ रसायनों को संचित करने की क्षमता को दर्शाता है। आम तौर पर जीव अपने पोषण के लिए आवश्यक रसायनों का संचय करते हैं लेकिन जैव-आवर्धन कुछ गैर-आवश्यक रसायनों के संचय पर केंद्रित होता है।

कथन 1 गलत है: जैव-आवर्धन होने के लिए प्रदूषकों को वसा में घुलनशील होना चाहिए न कि पानी में क्योंकि अगर वे पानी में घुलनशील होंगे, तो यह जीव द्वारा उत्सर्जित हो जाएगा।

कथन 2 सही है: जैव-आवर्धन की घटना के लिए प्रदूषक जैविक रूप से सक्रिय या निष्क्रिय दोनों हो सकते हैं।अंतर यह है कि अगर एक प्रदूषक जैविक रूप से सक्रिय नहीं है, तो यह जैव-आवर्धन कर सकता है किन्तु इससे कोई नुकसान नहीं होगा। यदि यह जैविक रूप से सक्रिय है, तो यह जीवों को नुकसान पहुंचाएगा।

कथन 3 गलत है: जैव-आवर्धन होने के लिए, प्रदूषकों का लंबे समय तक रहना आवश्यक है,क्योंकि यदि एक प्रदूषक अल्पकालिक होगा, तो यह हानिकारक होने से पहले ही टूट जाएगा।

कथन 4 सही है: जैव-आवर्धन होने के लिए, प्रदूषकों का गतिशील होना आवश्यक है, क्योंकि यदि यह गतिशील नहीं होगा, तो यह एक स्थान पर ही रहेगा और जीवों द्वारा इसके उपयोग की संभावना नहीं होगी।

flag
 Suggest corrections
thumbs-up
 
0 Upvotes


Similar questions
View More



footer-image