CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon


Question

Q. Which of the following movements was/were revivalist in nature?

1. Wahabi movement 
2. Bharat Dharma Mahamandal
3. Dharma sabha
4. Aligarh Movement 
5. Deoband Movement

Select the correct answer using the code given below.

Q. निम्नलिखित आंदोलनों में से कौन सा/से प्रकृति में पुनरुत्थानवादी था/थे?

1. वहाबी आंदोलन
2. भारत धर्म महामंडल
3. धर्मसभा
4. अलीगढ़ आंदोलन
5. देवबंद आंदोलन

नीचे दिए गए कूट  का उपयोग करके सही उत्तर चुनें।

  1. 1, 2, and 4 only
    केवल 1, 2, और 4 

  2. 1, 3, 4 and 5 only
    केवल 1, 3, 4 और 5

  3. 1, 2, 3, 4 and 5 
    1, 2, 3, 4 और 5

  4. 1, 2, 3 and 5 only
    केवल 1, 2, 3 और 5


Solution

The correct option is D
1, 2, 3 and 5 only
केवल 1, 2, 3 और 5
Basically, there were two kinds of reform movements in the 19th century in India:

Reformist
These movements responded with the time and scientific temper of the modern era.

Revivalist
These movements started reviving ancient Indian traditions and thoughts and believed that the western thinking ruined Indian culture and ethos

Statement 1 is correct:
Wahabi/Waliullah movement 
Shah waliullah (1702-62) inspired this essentially revivalist response to western influences and degeneration which had set in among Indian Muslims. He was the first indian muslim leader of the 18th century to organise muslims around the two fold ideals of this movement :(i) desirability of harmony among the four schools of muslim jurisprudence which had divided the indian muslims (he sought to integrate the best elements of the four schools);(ii)recognition of the role of individual conscience in religion where conflicting interpretations were derived from the quran and the hadis.

Statement 2 is correct:
Bharat Dharma Mahamandal
An all india organisation of the orthodox educated Hindus, it stood for a defence of orthodox Hinduism against the teachings of the Arya sammajists, the Theosophists, and the Ramakrishna Mission.

Statement 3 is correct:
Dharma sabha “Radhakant deb founded this sabha in 1830.An orthodox society, it stood for the preservation of the status -quo in socio-religious matters, opening even the abolition of sati. However, it favoured the promotion of western education, even for girls.

Statement 4 is incorrect:
The Aligarh movement was reformist in nature. The Aligarh Movement emerged as a liberal, modern trend among the Muslim intelligentsia based in Mohammedan Anglo-Oriental College, Aligarh. It aimed at spreading (i) modern education among Indian Muslims without weakening their allegiance to Islam; (ii) social reforms among Muslims relating to purdah, polygamy, widow remarriage, women’s education, slavery, divorce, etc. 

Statement 5 is correct:
Deoband Movement was revivalist in nature. The Deoband Movement was organised by the orthodox section among the Muslim ulema as a revivalist movement with the twin objectives of propagating pure teachings of the Quran and Hadis among Muslims and keeping alive the spirit of jihad against the foreign rulers.

मूल रूप से भारत में 19 वीं सदी में दो तरह के सुधार आंदोलन हुए:

सुधारवादी 
इन आंदोलनों ने आधुनिक युग के समय और वैज्ञानिक स्वभाव के साथ प्रतिक्रिया दी।

पुनरुत्थानवादी
इन आंदोलनों ने प्राचीन भारतीय परंपराओं और विचारों को पुनर्जीवित किया  और माना कि पश्चिमी सोच ने भारतीय संस्कृति और लोकाचार को बर्बाद कर दिया।

कथन 1 सही है ।
वहाबी / वलीउल्लाह आंदोलन
शाह वलीउल्लाह (1702-62) ने पश्चिमी प्रभावों और पतन के लिए अनिवार्य रूप से पुनरुत्थानवादी प्रतिक्रिया को प्रेरित किया, जो भारतीय मुसलमानों के  बीच स्थापित थी । वह इस आंदोलन को 2 आदर्शों के साथ  मुस्लिमों को संगठित करने वाले 18 वीं सदी के पहले भारतीय मुस्लिम नेता थे: (i) मुस्लिम न्यायशास्त्र के चार स्कूलों के बीच सामंजस्य की वांछनीयता जिसने भारतीय मुस्लिमों को विभाजित किया था (उन्होंने सर्वश्रेष्ठ तत्वों को एकीकृत करने की मांग की थी) चार स्कूलों) (ii) जहां जहां परस्पर विरोधी व्याख्याएं कुरान और हदीस से ली गई थीं  वहां धर्म में व्यक्तिगत विवेक की भूमिका की मान्यता देना  ।

कथन 2 सही है  ।
भारत धर्म महामंडल
रूढ़िवादी शिक्षित हिंदुओं का एक अखिल भारतीय संगठन था जो , आर्य समाजवादियों, थियोसोफिस्टों, और रामकृष्ण मिशन की शिक्षाओं के खिलाफ रूढ़िवादी हिंदू धर्म की रक्षा के लिए खड हुआ ।

कथन 3 सही है  ।
धर्म सभा 
“राधाकांत देब  ने इस सभा की स्थापना 1830 में की थी। एक रूढ़िवादी समाज में  यह सामाजिक-धार्मिक मामलों में यथा स्थिति  के संरक्षण के लिए खड़ा हुआ , यहां तक ​​कि सती प्रथा के  उन्मूलन के खिलाफ भी ।
हालांकि, इसने पश्चिमी शिक्षा के प्रचार का  समर्थन किया यहाँ तक कि  लड़कियों के लिए भी ।

कथन 4 गलत है ।
अलीगढ़ आंदोलन प्रकृति में सुधारवादी था। अलीगढ़ आंदोलन मोहम्मडन एंग्लो-ओरिएंटल कॉलेज अलीगढ़ में स्थित मुस्लिम बुद्धिजीवियों के बीच एक उदार व  आधुनिक प्रवृत्ति के रूप में उभरा। इसका उद्देश्य (i)इस्लाम के प्रति अपनी निष्ठा को कमजोर किए बिना भारतीय मुसलमानों के बीच आधुनिक शिक्षा का प्रसार करना; (ii) पर्दा , बहुविवाह, विधवा पुनर्विवाह, महिलाओं की शिक्षा, दासता, तलाक, आदि से संबंधित सामाजिक सुधार  करना था ।

कथन 5 सही है ।
देवबंद आंदोलन को मुस्लिम उलेमा के  रूढ़िवादी तबके ने एक पुनरुत्थानवादी आंदोलन के रूप में संगठित किया था जिसके दो उदेश्य थे । पहला  मुसलमानों और मुसलमानों के बीच कुरान और हदीस की शुद्ध शिक्षाओं का प्रचार करना और  दूसरा मुसलमानों के बीच विदेशी शासकों के प्रति    जिहाद की भावना को जिंदा  रखना ।


 

flag
 Suggest corrections
thumbs-up
 
0 Upvotes


Similar questions
QuestionImage
QuestionImage
View More...



footer-image