CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon


Question

Q. With reference to ”Black Carbon” effect on cloud formation, consider the following statements:

1. Clouds will be formed if black carbon absorbs heat at the cloud formation level.
2. When black carbon lies above low height clouds, it stabilizes them.
3. Lofted black carbon may inhibit formation of convective clouds.

Which of the above given statements is/are correct?

Q. बादल बनने पर "ब्लैक कार्बन" प्रभाव के संदर्भ में, निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

1. ब्लैक कार्बन,  बादल निर्माण  के स्तर पर उष्मा अवशोषित करते हैं, तो बादल बनते हैं।
2. जब ब्लैक कार्बन, कम ऊंचाई के बादलों के ऊपर होता है, तो यह उन्हें स्थिर करता है।
3. लॉफ्टेड ब्लैक कार्बन, संवहनी बादलों के निर्माण  को रोक सकता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन सा/से सही है / हैं ?


A

1 and 2 only
केवल 1 और 2
loader
B

2 and 3 only
केवल 2 और 3
loader
C

1 and 3 only
केवल 1 और 3
loader
D

2 only
केवल 2
loader

Solution

The correct option is B
2 and 3 only
केवल 2 और 3
Explanation:

Black carbon particles, commonly called soot, are dark and light-absorbing and therefore warm the climate. Soot comes from combustion of fossil and biofuels, especially burning of diesel, coal and wood.

Global model studies of soot effects on clouds do indeed find a variety of cloud responses, with increased clouds in some regions and decreased clouds in others.

Statement 1 is incorrect:  If Black Carbon absorbs heat at the level where clouds are forming, the clouds will evaporate as black carbon heats up the layer of the atmosphere where clouds are forming.

Statement 2 is correct:  When it lies above lower stratocumulus clouds that block the sun, it stabilizes them and thus has a cooling effect. It does so by stabilizing the layer of air on top of the clouds, promoting their growth. These clouds are like shields, blocking incoming sunlight. As a result, black carbon also ends up cooling the planet.

Statement 3 is correct: Lofted smoke over dry land environments appears to inhibit formation of convective cumulus clouds. Plumes of emissions can suppress convection and stabilize the atmosphere in ways that obstruct normal precipitation patterns. It is described as dimming of the earth’s surface that reduces patterns of evaporation that make clouds.

व्याख्या:

ब्लैक कार्बन कण, जिन्हें आमतौर पर काजल(soot) कहा जाता है, काले  और कम -अवशोषित होते हैं और इसलिए जलवायु को गर्म करते हैं।

काजल(soot) जीवाश्म और जैव ईंधन के दहन से उत्पन्न होता  है, विशेष रूप से डीजल, कोयला और लकड़ी के जलने से उत्पन्न होता  है।
बादलों पर सूट प्रभाव के वैश्विक मॉडल अध्ययन, वास्तव में कुछ क्षेत्रों में बढ़े हुए बादलों और दूसरों में घने बादलों के साथ, कई तरह की बादल प्रतिक्रियाओं का पता लगाते हैं।

कथन 1 गलत है: यदि ब्लैक कार्बन उस स्तर पर गर्मी को अवशोषित करता है जहां बादल बन रहे हैं।  बादल वाष्पित हो जाएंगे क्योंकि ब्लैक कार्बन उस वातावरण की परत को गर्म करता है जहां बादल बनते  हैं।

कथन 2 सही है: जब यह सूर्य को अवरुद्ध करने वाले निचले स्ट्रैटोक्यूम्यलस बादलों के ऊपर होता है, तो यह उन्हें स्थिर कर देता है और इस तरह इसका शीतलन प्रभाव पड़ता है।
यह बादलों के ऊपर हवा की परत को स्थिर करके, उनके विकास को बढ़ावा देता है। ये बादल ढाल की तरह होते हैं,जो आने वाली धूप को रोकते हैं।
नतीजतन, ब्लैक कार्बन ग्रह को ठंडा करने का काम भी करता है।

कथन 3 सही है: शुष्क भूमि के वातावरण में फैलता धुआँ , संवहनी  मेघपुंज  बादलों के निर्माण को रोकता है। उत्सर्जन  संवहन को दबा सकती है और वातावरण को उन तरीकों से स्थिर कर सकती हैं जो सामान्य वर्षा के पैटर्न को बाधित करते हैं। इसे पृथ्वी की सतह को डिम करने वाला बताया गया है जो बादलों को बनाने वाले वाष्पीकरण के पैटर्न को कम करता है।


All India Test Series

Suggest Corrections
thumbs-up
 
0


similar_icon
Similar questions
View More



footer-image