CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon


Question

Q53. Consider the following statements regarding Ajanta Caves:

  1. Ajanta Caves constitute ancient monasteries and worship-halls of different Buddhist traditions
  2. It has large chaitya-viharas and is decorated with sculptures and paintings

Which of the statements given above is/ are correct?

 

Q53. अजंता की गुफाओं के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

1.   अजंता की गुफाओं में प्राचीन मठ और विभिन्न बौद्ध परंपराओं के पूजा-कक्ष शामिल हैं।

2.   इसमें बड़े चैत्य-विहार हैं और इसे मूर्तियों और चित्रों से सजाया गया है।

ऊपर दिए गए कथनों में से कौन सा सही है / हैं?


  1. (b) Only 2

     

    (b) केवल 2

  2. (a) Only 1                    

    (a) केवल 1                             

  3. (c) Both 1 and 2         

    (c) 1 और 2 दोनों                    
  4. (d) None of the above

    (d) इनमें से कोई नहीं


Solution

The correct option is C (c) Both 1 and 2         

(c) 1 और 2 दोनों                    

Ans:53)(c)

Explanation: The Ajanta Caves are 30 (approximately) rock-cut Buddhist cave monuments which date from the 2nd century BCE to about 480 CE in Aurangabad district of Maharashtra state of India.

The Ajanta Caves constitute ancient monasteries and worship-halls of different Buddhist traditions carved into a 250-feet wall of rock. The caves also present paintings depicting the past lives and rebirths of the Buddha, pictorial tales from Aryasura's Jatakamala, and rock-cut sculptures of Buddhist deities.

Ajanta has twenty nine caves. It has four chaitya caves datable to earlier phase, i.e. second and first century BCE and the later phase i.e. the fifth century. It has large chaitya-viharas and is decorated with sculptures and paintings. Ajanta is the only surviving example of the paintings of the first century BCE and the fifth century CE.


 

उत्तर:53)(c)
व्याख्या: अजंता की गुफाएँ 30 (लगभग) चट्टान-कटे हुए बौद्ध गुफा स्मारक हैं, जो दूसरी शताब्दी ईसा पूर्व से लेकर लगभग 480 ईस्वी भारत के महाराष्ट्र राज्य के औरंगाबाद जिले में स्थित है।

अजंता की गुफाओं में 250 फीट की चट्टान पर उकेरी गई विभिन्न बौद्ध परंपराओं के प्राचीन मठ और पूजा-हॉल हैं। गुफाओं में बुद्ध के पिछले जीवन और पुनर्जन्म, आर्यसुर के जातकमाला से चित्रात्मक किस्से, और बौद्ध देवताओं की रॉक-कट मूर्तियों को चित्रित करते हुए चित्र भी मौजूद हैं।

अजंता में उनतीस गुफाएँ हैं। इसमें चार चैत्य गुफाएँ हैं जो पहले चरण के लिए, यानी दूसरी और पहली शताब्दी ईसा पूर्व और बाद की अवस्था यानी पाँचवीं शताब्दी की हैं। इसमें बड़े चैत्य-विहार हैं और इसे मूर्तियों और चित्रों से सजाया गया है। अजंता पहली शताब्दी ईसा पूर्व और पांचवीं शताब्दी CE के चित्रों का एकमात्र जीवित उदाहरण है।

flag
 Suggest corrections
thumbs-up
 
0 Upvotes


Similar questions
QuestionImage
QuestionImage
View More...



footer-image