CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon
MyQuestionIcon
Question

किन बातों से ज्ञात होता है कि माधवदास का जीवन संपन्नता से भरा था और किन बातों से ज्ञात होता है कि वह सुखी नहीं था?

Open in App
Solution

माधवदास अपने लिए संगमरमर की एक नई कोठी बनवाते हैं। चिड़िया को धन का, सोने का घर बनवाने तथा मोतियों की झालर लटकाने का प्रलोभन देता है। वो चिड़िया से कहता है - ''मेरे पास क्या नहीं है। जो माँगो मैं वही दे सकता हूँ।'' माधवदास जी की इन बातों से ज्ञात होता है कि वे कितने धनी-संपन्न थे।

वहीं दूसरी ओर ऐसा भी लगता है कि धन-संपन्न होने के बावजूद भी वे सुखी नहीं है। ख्याल-ही-ख्याल में वे संध्या को स्वप्न की भाँति गुज़ार देते हैं। वे चिड़िया से कहते हैं-''मेरा दिल वीरान है। वहाँ कब हँसी सुनने को मिलती है?'' इससे यह स्पष्ट है कि वे सुखी नहीं थे।


flag
Suggest Corrections
thumbs-up
0
BNAT
mid-banner-image