CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon


Question

Q. Consider the following statements: Which of the statements given above is/are correct?

Q. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए: उपर्युक्त कथनों में से कौन - सा / से सही है / हैं?


A

1 only
केवल 1
loader
B

2 only
केवल 2
loader
C

Both 1 and 2
1 और 2
loader
D

Neither 1 nor 2
न तो 1, न ही 2
loader

Solution

The correct option is B
2 only
केवल 2
Explanation:

Statement 1 is incorrect: ECI is an independent constitutional body which enjoys considerable autonomy. Hence, it does not work under the administrative control of any ministry.

Statement 2 is correct: As per Section 58A of ‘Representation of the People Act, 1951’, Election Commission of India has been vested with the power to cancel the polls in case of booth capturing.
 
Explainer’s Perspective:

This question at first instance looks difficult to solve, but a knowledge about the Election Commission of India combined with a simple elimination method, can help in solving this question.

Observe Statement 1, it says that the Election Commission of India works under the administrative control of the Ministry of Home Affairs. A simple doubt should arise for the aspirants, if it is the case how can the ECI conduct free and fair elections in the largest democracy. The fact is that the ECI is an independent constitutional body which enjoys considerable autonomy (this would be true for most constitutional bodies).

Thus, if we eliminate Statement 1, we have only options (b) and (d).
It is also quite obvious that ECI, being such a powerful body, would have the authority to cancel polls in case of a grave offence like booth capturing. This is also essential from the point of view of ensuring free and fair elections. Thus, the statement is correct and the answer is (b).

स्पष्टीकरण:

कथन 1 गलत है: ECI एक स्वतंत्र संवैधानिक निकाय है जिसके पास पर्याप्त स्वायत्तता है। इसलिए यह किसी मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में कार्य नहीं करता है।

कथन 2 सही है: स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए भारत के चुनाव आयोग को बूथ कैप्चरिंग के मामले में चुनाव रद्द करने की व्यापक शक्तियां प्रदान की गई हैं।
 
एक्सप्लेनर परिप्रेक्ष्य:

पहली बार में यह प्रश्न हल करना मुश्किल लग रहा है, लेकिन भारतीय निर्वाचन आयोग के बारे में एक सरल उन्मूलन विधि (elimination method) के साथ संयुक्त एक जानकारी है, जो इस प्रश्न को हल करने में मदद कर सकती है।

कथन 1 पर गौर करें, यह कहता है कि भारतीय निर्वाचन आयोग, गृह मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में काम करता है। अभ्यर्थियों के मन में एक सरल संदेह उत्पन्न होना चाहिए, कि अगर यह बात सही होती है तो  भारतीय निर्वाचन आयोग सबसे बड़े लोकतंत्र में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कैसे करवा सकता है। तथ्य यह है कि भारतीय निर्वाचन आयोग एक स्वतंत्र संवैधानिक निकाय है जिसे काफी स्वायत्तता प्राप्त है (यह तथ्य अधिकांश संवैधानिक निकायों के लिए सही होगा)।

इस प्रकार, यदि हम कथन 1 को हटा देते हैं, तो हमारे पास केवल विकल्प (b) और (d) बचते हैं,
यह भी स्पष्ट है कि एक शक्तिशाली निकाय होने के नाते भारतीय निर्वाचन आयोग के पास बूथ कैप्चरिंग जैसे गंभीर अपराध के मामले में चुनाव रद्द करने का अधिकार होगा।  स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के दृष्टिकोण से भी यह आवश्यक है। इस प्रकार, कथन सही है और उत्तर है: (b)।

All India Test Series

Suggest Corrections
thumbs-up
 
0


similar_icon
Similar questions
View More



footer-image