CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon
MyQuestionIcon
Question

Q. Nuclear Fuel Complex under the Department of Atomic Energy has developed Inconel 718, to be used in ISRO planned moon mission. With reference to Inconel 718, which one of the following statements is correct?

Q. परमाणु ऊर्जा विभाग के तहत परमाणु ईंधन परिसर ने इंकोनेल 718 (Inconel 718) विकसित किया है, जिसका उपयोग इसरो के चंद्र मिशन में किया जाएगा। इंकोनेल 718 के संदर्भ में, निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही है?

A

It is a super-alloy which can be used permanently above 600°C.
यह एक सुपर-अलॉय (Super-Alloy) है जिसे 600 ° C से ऊपर स्थायी रूप से उपयोग किया जा सकता है।
Right on! Give the BNAT exam to get a 100% scholarship for BYJUS courses
B

It is a new variety of cryogenic fuel with very low density.
यह बहुत कम घनत्व वाली क्रायोजेनिक ईंधन की एक नई किस्म है।
No worries! We‘ve got your back. Try BYJU‘S free classes today!
C

It is an insulating material used for space suits of astronauts.
यह अंतरिक्ष यात्रियों के अंतरिक्ष सूट के लिए उपयोग की जाने वाली एक इन्सुलेट सामग्री है।
No worries! We‘ve got your back. Try BYJU‘S free classes today!
D

It has low weldability when compared to the nickel-base superalloys hardened by aluminum and titanium.
एल्यूमीनियम और टाइटेनियम द्वारा कठोर बनाये गए निकेल आधारित सुपर-अलॉय की तुलना में इसकी संयोज्यता (weldability) कम है।
No worries! We‘ve got your back. Try BYJU‘S free classes today!
Open in App
Solution

The correct option is A
It is a super-alloy which can be used permanently above 600°C.
यह एक सुपर-अलॉय (Super-Alloy) है जिसे 600 ° C से ऊपर स्थायी रूप से उपयोग किया जा सकता है।
Explanation:

Nuclear Fuel Complex under Department of Atomic Energy has developed a material to be used in ISRO planned moon mission called Inconel 718.

Option (a) is correct: It is considered as a refractory super-alloy since it can be used permanently above 600°C. The alloy associates good creep and rupture strength with a high resistance to fatigue.

Option (b) is incorrect: It is not a cryogenic fuel with very low density.

Option (c) is incorrect: Inconel 718 accounts for up to 50% of the weight of aircraft turbojet engines, being the main component for discs, blades and casing of the high pressure section of the compressor and discs as well as some blades of the turbine section. It also finds several applications in rocket engines and cryogenic environments due to its good toughness at low temperature (preserving parts from a brittle fracture). It is not used for space suits of astronauts.

Option (d) is incorrect: It possesses long time strength and toughness at higher temperature along with confinement of corrosion resistance up to high temperature. This alloy has excellent weldability when compared to the nickel-base superalloys hardened by aluminum and titanium.

व्याख्या:

परमाणु ऊर्जा विभाग के तहत परमाणु ईंधन काम्प्लेक्स ने इसरो के चंद्र मिशन में इस्तेमाल की जाने वाली एक सामग्री इंकोनेल 718 विकसित की है।

विकल्प (a) सही है: यह एक सुपर-अलॉय माना जाता है, क्योंकि इसे 600 डिग्री सेल्सियस से ऊपर स्थायी रूप से इस्तेमाल किया जा सकता है।

विकल्प (b) गलत है: यह अत्यंत कम घनत्व वाला क्रायोजेनिक ईंधन नहीं है।

विकल्प (c) गलत है: इंकोनेल 718 से विमानों के टर्बोजेट इंजनों के 50% से अधिक भाग का निर्माण किया जाता है, यह डिस्क, ब्लेड,आवरण एवं टरबाइन के ब्लेड का मुख्य घटक है। कम तापमान पर इसकी अच्छी कठोरता के कारण इसका उपयोग रॉकेट इंजनों में भी किया जाता है।इसका उपयोग अंतरिक्ष यात्रियों के अंतरिक्ष सूट के लिए नहीं किया जाता है।

विकल्प (d) गलत है: इसमें उच्च तापमान पर संक्षारण प्रतिरोध के साथ-साथ कठोरता होती है। एल्यूमीनियम और टाइटेनियम द्वारा कठोर बनाये गए निकेल आधारित सुपर-अलॉय की तुलना में इसकी संयोज्यता (weldability) अत्यधिक होती है।

flag
Suggest Corrections
thumbs-up
0
similar_icon
Similar questions
View More
Join BYJU'S Learning Program
similar_icon
Related Videos
thumbnail
lock
Alloy formation
CHEMISTRY
Watch in App
Join BYJU'S Learning Program
CrossIcon