CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon
MyQuestionIcon
Question

Q4. Which of the following statements with reference to the Lucknow Session of 1916 of INC is/are correct?

1. Indian National Congress accepted the demand of separate electorates by Muslim League.

2. The Home Rule League movement was to be discontinued.

Select the correct answer using the code given below:

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के 1916 के लखनऊ अधिवेशन के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन सा/से कथन सत्य है/हैं?

1. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने मुस्लिम लीग के अलग निर्वाचक-मंडल की मांग को स्वीकार कर लिया।

2. होमरूल लीग आंदोलन को बंद करना था ।

नीचे दिए गए कूट का उपयोग कर सही उत्तर का चयन करें:


A

Only 1

केवल 1

Right on! Give the BNAT exam to get a 100% scholarship for BYJUS courses
B

Only 2

केवल 2

No worries! We‘ve got your back. Try BYJU‘S free classes today!
C

Both 1 and 2

1 और 2 दोनों

No worries! We‘ve got your back. Try BYJU‘S free classes today!
D

None of the above

इनमें से कोई नहीं

No worries! We‘ve got your back. Try BYJU‘S free classes today!
Open in App
Solution

The correct option is A

Only 1

केवल 1


At the Lucknow session of the Congress in December, 1916, the extremists were welcomed back into the Congress by the Moderate president, Ambika Charan Majumdar nearly ten years after the Surat split.

The Lucknow Congress was significant also for the famous Congress League Pact, popularly known as the Lucknow Pact by which Muslim League and Congress agreed to separate electorate.

The Home rule league was not discontinued by Lucknow Session of Congress. The league merged into Indian National Congress in 1920, to form an united political front.

दिसंबर 1916 में कांग्रेस के लखनऊ अधिवेशन में, सूरत विभाजन के लगभग दस साल बाद नरमपंथी अध्यक्ष अंबिका चरण मजूमदार ने चरमपंथियों के कांग्रेस वापसी का स्वागत किया।

लखनऊ कांग्रेस ऐतिहासिक, कांग्रेस-लीग संधि के लिए भी महत्वपूर्ण थी, जिसे लोकप्रिय रूप से लखनऊ संधि के नाम से जाना जाता था, जिसके द्वारा मुस्लिम लीग और कांग्रेस अलग निर्वाचक - मंडल के मांग पर सहमत हुईं।

होम रूल लीग कांग्रेस के लखनऊ सत्र द्वारा बंद नहीं किया गया था। 1920 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में एकजुट राजनीतिक मोर्चा बनाने हेतु लीग का विलय किया गया।


flag
Suggest Corrections
thumbs-up
0
BNAT
mid-banner-image