CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon
MyQuestionIcon
Question

Which of the following brings out the ‘Consumer Price Index for Industrial Workers’?

निम्नलिखित में से कौन औद्योगिक श्रमिकों के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक प्रकाशित करता है?

A
The Reserve Bank of India

भारतीय रिजर्व बैंक
No worries! We‘ve got your back. Try BYJU‘S free classes today!
B
The Department of Economic Affairs

आर्थिक मामलों का विभाग
No worries! We‘ve got your back. Try BYJU‘S free classes today!
C
The Labour Bureau

श्रम ब्यूरो
Right on! Give the BNAT exam to get a 100% scholarship for BYJUS courses
D
The Department of Personnel and Training

कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग
No worries! We‘ve got your back. Try BYJU‘S free classes today!
Open in App
Solution

The correct option is C The Labour Bureau

श्रम ब्यूरो
  • Consumer Price Index is a measure of change in retail prices of goods and services consumed by defined population group in a given area with reference to a base year. This basket of goods and services represents the level of living or the utility derived by the consumers at given levels of their income, prices and tastes.
  • Consumer Price Index Numbers for Industrial Workers (CPI-IW ) is released by The Labour Bureau. It tries to measure a the alterations over a time period on the prices of a fixed basket of goods and services utilised by Industrial Workers.
  • Presently the consumer price indices compiled in India are CPI for Industrial workers CPI(IW), CPI for Agricultural Labourers CPI(AL) and; Rural Labourers CPI(RL) and (Urban) and CPI(Rural).
  • The CPI(IW) and CPI(AL& RL) are compiled by Labour Bureau.
  • CPI(Urban) and CPI(Rural) are new indices in the group of Consumer price index and has a wider coverage of population. This index compiled by Central Statistical Organisation
  • The Reserve Bank of India (RBI) has started using CPI-combined as the sole inflation measure for the purpose of monetary policy. As per the agreement on Monetary Policy Framework between the Government and the RBI dated February 20, 2015 the sole of objective of RBI is price stability and a target is set for inflation as measured by the Consumer Price Index-Combined.

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक एक आधार वर्ष के संदर्भ में किसी दिए गए क्षेत्र में परिभाषित जनसंख्या समूह द्वारा उपभोग की जाने वाली वस्तुओं और सेवाओं की खुदरा कीमतों में बदलाव का एक माप है।वस्तुओं और सेवाओं की यह टोकरी उनके आय, कीमतों और रुचियों के दिए गए स्तरों पर उपभोक्ताओं द्वारा प्राप्त जीवन स्तर या उपयोगिता का प्रतिनिधित्व करती है।
औद्योगिक श्रमिकों के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक संख्या (CPI-IW) श्रम ब्यूरो द्वारा जारी की जाती है। यह औद्योगिक श्रमिकों द्वारा उपयोग की जाने वाली वस्तुओं और सेवाओं की एक निश्चित टोकरी की कीमतों पर एक समय अवधि में परिवर्तनों को मापने की कोशिश करता है।
वर्तमान में भारत में संकलित उपभोक्ता मूल्य सूचकांक हैं औद्योगिक श्रमिकों CPI (IW) के लिए CPI,कृषि मजदूरोंCPI (AL) के लिए CPI ,ग्रामीण मजदूर CPI (RL),(अर्बन) और सीपीआई (ग्रामीण)।
CPI (IW) और CPI (AL & RL) श्रम ब्यूरो द्वारा संकलित किए जाते हैं।
सीपीआई (शहरी) और सीपीआई (ग्रामीण) उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के समूह में नए सूचकांक हैं और आबादी का व्यापक कवरेज है। यह सूचकांक केंद्रीय सांख्यिकी संगठन द्वारा संकलित किया जाता है
भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने मौद्रिक नीति के उद्देश्य से एकमात्र मुद्रास्फीति उपाय के रूप में CPI- संयुक्त का उपयोग करना शुरू कर दिया है। 20 फरवरी, 2015 को सरकार और आरबीआई के बीच मौद्रिक नीति ढांचे पर समझौते के अनुसार, आरबीआई का एकमात्र उद्देश्य मूल्य स्थिरता है और संयुक्त उपभोक्ता मूल्य सूचकांक-द्वारा मापा गया मुद्रास्फीति के लिए एक लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

flag
Suggest Corrections
thumbs-up
0
BNAT
mid-banner-image
similar_icon
Similar questions
View More