CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon


Question

Q. What were the prime objectives of Nationalisation of private banks in the 1960s ?

Select the correct answer using the code given below:

Q. 1960 के दशक में निजी बैंकों के राष्ट्रीयकरण के मुख्य उद्देश्य क्या थे?

नीचे दिए गए कोड का उपयोग करके सही उत्तर चुनें:



A

3 only
केवल 3
loader
B

2 and 4 only
केवल 2 और 4
loader
C

1 and 2 only
केवल 1 और 2
loader
D

3 and 4 only
केवल 3 और 4
loader

Solution

The correct option is B
2 and 4 only
केवल 2 और 4

Explanation

Nationalisation of Banks

  •  The government through the Banking Companies (Acquisition and Transfer of Undertakings) Ordinance, 1969 and nationalised the 14 largest commercial banks on 19 July 1969. Nationalisation of Banks 
  • Nationalisation of banks means that ownership should be changed from private to public. After the nationalisation of banks , banks will be owned and operated by the government.

STATEMENT  1 is incorrect as to prevent the loss of the private sector  banks was not the objective of Nationalisation of banks. The core objective for nationalisation was to energise priority sectors at a time when the large businesses dominated credit profiles. 

STATEMENT  2 is correct  as Increasing the access of banking services for the masses was one of the primary objectives of Nationalisation of Banks. It enhanced financial inclusion in the economy. One of the objectives of nationalisation of banks was rapidly expand the banking network to the unbanked regions, especially rural areas and deliver institutional credit to the farmers, small businesses and other weaker sections of society.

STATEMENT  3 is incorrect  as One of the objectives of  Nationalisation of banks was to decentralise economic power.  The loans by commercial banks to industry nearly doubled between 1951-1968 from 34 to 68 per cent, even as the agriculture received less than 2 per cent. So there was centralisation of economic power for industry.  One of the objective of nationalisation of banks was to decentralise such tendency and provide loan to other sector of economy like Agriculture and rural Area.

STATEMENT  4 is correct  as one of the objectives of Nationalisation of Banks was to ensure the balanced flow of credit to all the productive sectors, across various regions and social groups of the country.  Other objectives are to provide stability to the banking system by preventing bank failures and speculative activities.

व्याख्या:

बैंकों का राष्ट्रीयकरण 

  • सरकार ने बैंकिंग कंपनी (उपक्रमों का अधिग्रहण और हस्तांतरण) अध्यादेश, 1969 के माध्यम से 19 जुलाई 1969 को 14 बड़े व्यावसायिक बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया ।
  • बैंकों के राष्ट्रीयकरण का मतलब है कि स्वामित्व को निजी से सार्वजनिक में बदलना।  बैंकों के राष्ट्रीयकरण के बाद बैंकों का स्वामित्व और संचालन सरकार द्वारा किया जाएगा।

कथन 1 गलत है क्योंकि निजी क्षेत्र के नुकसान को रोकना बैंकों के राष्ट्रीयकरण का उद्देश्य नहीं था। राष्ट्रीयकरण का मुख्य उद्देश्य प्राथमिकता वाले क्षेत्रों को उस समय सक्रिय करना था जब क्रेडिट प्रोफाइल पर बड़े व्यवसायों का प्रभुत्व था।

कथन 2 सही है क्योंकि जनता के लिए बैंकिंग सेवाओं की पहुंच बढ़ाना बैंकों के राष्ट्रीयकरण के प्राथमिक उद्देश्यों में से एक था। इसने अर्थव्यवस्था में वित्तीय समावेश को बढ़ाया। बैंकों के राष्ट्रीयकरण के उद्देश्यों में से एक तेजी से बैंकिंग नेटवर्क का विस्तार गैर-बैंकिंग क्षेत्रों, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में करना और किसानों, छोटे व्यवसायों और समाज के अन्य कमजोर वर्गों में संस्थागत ऋण पहुंचाना था।

कथन 3 गलत है क्योंकि बैंकों के राष्ट्रीयकरण का एक उद्देश्य आर्थिक शक्ति का विकेंद्रीकरण करना था। वाणिज्यिक बैंकों द्वारा उद्योग के लिए 1951-1968 के बीच ऋण दोगुना (34 से बढ़कर 68 प्रतिशत) हो गया, जबकि इसी अवधि में कृषि क्षेत्र को 2 प्रतिशत से भी कम ऋण  प्राप्त हुआ। इसलिए यह उद्योग के लिए आर्थिक शक्ति का केंद्रीकरण था। बैंकों के राष्ट्रीयकरण का एक उद्देश्य ऐसी प्रवृत्ति का विकेंद्रीकरण करना और अर्थव्यवस्था के अन्य क्षेत्र जैसे कृषि और ग्रामीण क्षेत्र को ऋण प्रदान करना था।

कथन 4 सही है क्योंकि बैंकों के राष्ट्रीयकरण के उद्देश्यों में से एक देश के विभिन्न क्षेत्रों और सामाजिक समूहों में सभी उत्पादक क्षेत्रों के लिए ऋण के संतुलित प्रवाह को सुनिश्चित करना था। अन्य उद्देश्य बैंक विफलताओं और अव्यवहार्य गतिविधियों को रोककर बैंकिंग प्रणाली को स्थिरता प्रदान करना है।


All India Test Series

Suggest Corrections
thumbs-up
 
0


similar_icon
Similar questions
View More



footer-image