CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon
MyQuestionIcon
Question

Q. With reference to electoral bonds, which of the following statement(s) is/are not correct?

1.They are issued by a nationalised bank in denominations not higher than Rs 2000/-
2.The donor’s identity is not mandated to be disclosed
3.Only individuals can purchase electoral bonds

Select the answer using the code given below:

Q. चुनावी बांड के संदर्भ में निम्नलिखित में कौन सा/से कथन सही नहीं है /हैं?

1. ये राष्ट्रीयकृत बैंक द्वारा जारी किए जाते हैं जो 2000 / - मूल्यवर्ग से अधिक के नहीं होते हैं।
2. दाता की पहचान का खुलासा किया जाना अनिवार्य नहीं है।
3. केवल व्यक्ति ही चुनावी बांड खरीद सकते हैं।

नीचे दिए गए कूट का उपयोग करके उत्तर चुनें:

A

1and 2 only
केवल 1 और 2
No worries! We‘ve got your back. Try BYJU‘S free classes today!
B

2 and 3 only
केवल 2 और 3
No worries! We‘ve got your back. Try BYJU‘S free classes today!
C

1 and 3 only
केवल 1 और 3
Right on! Give the BNAT exam to get a 100% scholarship for BYJUS courses
D

1, 2 and 3
1, 2 और 3
No worries! We‘ve got your back. Try BYJU‘S free classes today!
Open in App
Solution

The correct option is C
1 and 3 only
केवल 1 और 3
Explanation:

Statement 1 is incorrect
They are issued by the State Bank of India, in denominations of ₹1,000, ₹10,000, ₹lakh, ₹10 lakh and ₹1 crore, during specified periods of the year.The government had limited anonymous cash donations from Rs 20,000 to Rs 2,000.

Statement 2 is correct
The donor’s identity is not mandated to be disclosed. Neither the purchaser of the bond nor the political party receiving the donation is mandated to disclose the donor’s identity. Therefore, not only will, say, the shareholders of a corporation be unaware of the company’s contributions, but the voters too will have no idea of how, and through whom, a political party has been funded.

Statement 3 is incorrect
Companies and individuals can purchase electoral bonds.

Extra Information:
The Electoral Bond Bond does not carry the name of payee or any other details by which the buyer can be identified. Likewise no detail of political party depositing the bonds is noted on the electoral bonds. Thus, any particular bond cannot be identified or associated with any particular buyer or political party that deposits it.
But every political party will have to disclose the amount of donations it has received through electoral bonds to the Election Commission.

स्पष्टीकरण:

कथन1 गलत है
वे भारतीय स्टेट बैंक द्वारा वर्ष के निर्दिष्ट अवधि के दौरान ₹ 1,000, ₹ 10,000,, लाख, ₹ 10 लाख और 1 करोड़ के मूल्यवर्ग में जारी किए जाते हैं। सरकार ने गुमनाम चंदे को 2,000 रुपये से 20,000 रुपये तक सीमित कर दिया है।

कथन 2 सही है
दाता की पहचान का खुलासा किया जाना अनिवार्य नहीं है। न तो बांड के खरीदार और न ही दान प्राप्त करने वाले राजनीतिक दल को दाता की पहचान का खुलासा करना अनिवार्य है। इसलिए, एक निगम के शेयरधारकों कंपनी में इस प्रकार के योगदान से अनजान हैं, मतदाताओं को भी पता नहीं होगा कि कैसे और किसके माध्यम से, एक राजनीतिक पार्टी को चंदा दिया गया है।

कथन 3 गलत है
कंपनियां और व्यक्ति चुनावी बॉन्ड खरीद सकते हैं।

अतिरिक्त जानकारी:
इलेक्टोरल बॉन्ड के तहत दान देने वाले या किसी नाम का विवरण नहीं रखता है जिसके द्वारा खरीदार की पहचान की जा सकती है। इसी तरह बॉन्ड जमा करने वाले राजनीतिक दल का कोई विवरण चुनावी बॉन्ड पर नोट नहीं किया जाता है। इस प्रकार, किसी विशेष बॉन्ड की पहचान नहीं की जा सकती है और न ही इसे जमा करने वाले किसी विशेष खरीदार या राजनीतिक दल के साथ जोड़ा जा सकता है।
लेकिन प्रत्येक राजनीतिक दल को चुनाव आयोग के समक्ष चुनावी बांड के माध्यम से प्राप्त दान की राशि का खुलासा करना होगा।

flag
Suggest Corrections
thumbs-up
0
BNAT
mid-banner-image
similar_icon
Similar questions
View More