CameraIcon
CameraIcon
SearchIcon
MyQuestionIcon


Question

Read the following passage and answer the question that follows.

One of the largest human-made permanent magnets in space resides on the International Space Station (ISS), and it’s helping scientists better understand the origins of our universe. The Alpha Magnetic Spectrometer (AMS-02) is an observatory that is collecting data from measurements of cosmic rays, nuclei from hydrogen up to iron, as well as electrons and positrons that pervade all of our universe.

The original AMS was launched on the Space Shuttle in 1998 to test the concept of using a powerful magnet to conduct in-depth studies of subatomic particles coming from millions of light-years from the Milky Way. AMS-02 was installed on the space station in 2011, with a projected lifespan of three years. Eight years later, it’s still working, having already measured and categorized almost 140 billion cosmic rays.

 Q. With reference to the above passage, which of the following statement(s) is/are considered incorrect?

1. Collection of data on cosmic rays, nuclei of various elements as well as electrons and positron is vital in studying the origin of the universe.
2. ASM-02 is being used for over 8 years as opposed to its actual three-year lifespan because NASA stopped further development of the project.

निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर प्रश्न का उत्तर दें:

अंतरिक्ष में मानव निर्मित सबसे बड़े स्थाई चुम्बकों में से एक अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (ISS) में स्थित है, और यह वैज्ञानिकों को हमारे ब्रह्मांड की उत्पत्ति को बेहतर ढंग से समझने में मदद करता है।अल्फा मैग्नेटिक स्पेक्ट्रोमीटर (AMS-02) एक वेधशाला है,जो कॉस्मिक किरणों के मापन, हाइड्रोजन से लेकर लोहे तक के नाभिक,साथ ही हमारे ब्रह्मांड के सभी क्षेत्रों में व्याप्त इलेक्ट्रॉनों और पॉज़िट्रॉन से संबंधित डेटा एकत्र कर रहा है।

आकाशगंगाओं से लाखों प्रकाश वर्ष की दूरी से आने वाले उप-परमाण्विक कणों का गहराई से अध्ययन करने के लिए एक शक्तिशाली चुंबक का उपयोग करने की अवधारणा का परीक्षण करने के लिए मूल AMS को 1998 में स्पेस शटल पर लॉन्च किया गया था।AMS-02 को तीन वर्षों के अनुमानित जीवनकाल के साथ 2011 में अंतरिक्ष स्टेशन पर स्थापित किया गया था।आठ साल बाद, यह अभी भी काम कर रहा है और इसने अब तक लगभग 140 बिलियन कॉस्मिक किरणों को अध्ययन किया है और उसे वर्गीकृत किया है।

Q. उपरोक्त गद्यांश के संदर्भ में, निम्नलिखित में कौन सा/से कथन गलत है/हैं?

1. ब्रह्मांड की उत्पत्ति का अध्ययन करने के लिए कॉस्मिक किरणों, विभिन्न तत्वों के नाभिकों के साथ-साथ इलेक्ट्रॉनों और पॉज़िट्रॉन से संबंधित डेटा का संग्रह महत्वपूर्ण है।
2. ASM-02 का उपयोग इसके वास्तविक तीन साल के जीवनकाल के उलट 8 साल से अधिक समय से किया जा रहा है क्योंकि नासा ने इस परियोजना के विकास को बंद कर दिया।

  1. 2 only
    केवल 2

  2. 1 only
    केवल 1

  3. Both 1 and 2
    1और 2 दोनों

  4. Neither 1 nor 2
     न तो 1 न ही 2


Solution

The correct option is A
2 only
केवल 2
Statement 1 is correct.
Refer to these lines from the passage, “One of the largest human-made permanent magnets in space resides on the International Space Station (ISS), and it’s helping scientists better understand the origins of our universe. The Alpha Magnetic Spectrometer (AMS-02) is an observatory that is collecting data from measurements of cosmic rays, nuclei from hydrogen up to iron, as well as electrons and positrons that pervade all of our universe.”

It is evident from these two lines that data on cosmic rays, nuclei of various elements is vital in the study of the universe.

Statement 2 is incorrect.
Refer the lines from the passage, “AMS-02 was installed on the space station in 2011, with a projected lifespan of three years. Eight years later, it’s still working, having already measured and categorized almost 140 billion cosmic rays.” Though it is stated that the AMS-02 has serviced well over it’s intended lifespan, we cannot arrive at the reason for it from the passage, hence the statement is incorrect.

कथन 1 सही है।
“अंतरिक्ष में मानव निर्मित सबसे बड़े स्थाई चुम्बकों में से एक अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (ISS) में स्थित है, और यह वैज्ञानिकों को हमारे ब्रह्मांड की उत्पत्ति को बेहतर ढंग से समझने में मदद करता है।अल्फा मैग्नेटिक स्पेक्ट्रोमीटर (AMS-02) एक वेधशाला है,जो कॉस्मिक किरणों के मापन, हाइड्रोजन से लेकर लोहे तक के नाभिक,साथ ही साथ हमारे ब्रह्मांड के सभी क्षेत्रों में व्याप्त इलेक्ट्रॉनों और पॉज़िट्रॉन से संबंधित डेटा एकत्र कर रही है।”

यह इन दो पंक्तियों से स्पष्ट होता है कि ब्रह्मांड के अध्ययन हेतु कॉस्मिक किरणों, विभिन्न तत्वों के नाभिकों का डेटा महत्वपूर्ण है।

कथन 2 गलत है।
“AMS-02 को तीन वर्षों के अनुमानित जीवनकाल के साथ 2011 में अंतरिक्ष स्टेशन पर स्थापित किया गया था।आठ साल बाद, यह अभी भी काम कर रहा है और इसने अब तक लगभग 140 बिलियन कॉस्मिक किरणों का  अध्ययन किया है और उसे वर्गीकृत किया है।

हालांकि यह कहा गया है कि AMS-02 ने इसे अपने निर्धारित जीवनकाल में अच्छी तरह से सेवा प्रदान की है।परन्तु गद्यांश कथन 2 की पुष्टि नहीं करता है।इसलिए यह कथन गलत है।
 

flag
 Suggest corrections
thumbs-up
 
0 Upvotes


Similar questions
View More



footer-image