यूपीएससी के लिए लोक प्रशासन की किताबें

हालिया कुछ वर्षों में लोक प्रशासन यूपीएससी परीक्षा में एक लोकप्रिय वैकल्पिक विषय के तौर पर उभरा है | यह एक गतिशील (Dynamic) विषय है और इसमें निरंतर नई नई अवधारणाओं का समावेश होता रहता  है | यह विषय हमारा परिचय न केवल नौकरशाही कार्य-शैली  से कराता है बल्कि हमें प्रशासनिक प्रबंधन (Administrative Management) भी सिखाता है |  राजनीति विज्ञान पृष्ठभूमि से आने वाले  विद्यार्थियों के लिए यह एक अच्छा विकल्प हो सकता है क्योंकि दोनों विषयों में काफी  घनिष्टता है | 

इस लेख में लोक प्रशासन के लिए महत्वपूर्ण पुस्तकों की जानकारी दी गई है | पाठक  लिंक किए गए लेख में आईएएस हिंदी के बारे में जानकारी पा सकते हैं। 

वैकल्पिक विषय के तौर पर लोक प्रशासन 

यूपीएससी मुख्य परीक्षा में सभी वैकल्पिक विषय की भांति लोक प्रशासन के भी  2 पत्र होते हैं | प्रत्येक पत्र 250-250 अंकों का होता है | प्रश्न पत्र -1 में सैद्धांतिक लोक प्रशासन जबकि प्रश्न पत्र -2 में भारतीय प्रशासनिक व्यवस्था से जुड़े सवाल पूछे जाते हैं | चूँकि यह विषय नौकरशाही संरचना और प्रशासनिक कार्यशैली से ही सम्बद्ध है , अतः परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद  उम्मीदवारों  को प्रायोगिक जीवन में इसका बहुत लाभ मिलता है | नीचे तालिका में लोक प्रशासन के महत्वपूर्ण किताबों की सूचि दी गई है | विषय के विस्तृत पाठ्यक्रम के किये देखें हमारा हिंदी पेज लोक प्रशासन UPSC सिलेबस

लोक प्रशासन के महत्वपूर्ण किताबों की सूचि

लोक प्रशासन एम. लक्ष्मीकांत
लोक प्रशासन के सिद्धांत बी.एल. फाड़िया
लोक प्रशासन अवस्थी एवं माहेश्वरी
भारत में लोक प्रशासन पद्मा रामचंद्रन 
प्रशासनिक विचारक  आर.पी. जोशी एवं अंजू पारेख 
लोक प्रशासन: सिद्धांत एवं व्यवहार स्पेक्ट्रम 
लोक प्रशासन के तत्व  एस.सी. सिंघल 
लोक प्रशासन: सिद्धांत एवं व्यवहार सुषमा यादव , बी. गौतम 
लोक प्रशासन के तत्व एवं भारत में लोक प्रशासन  बी.एल. फाड़िया एवं कुलदीप फाड़िया 
लोक प्रशासन के नये आयाम मोहित भट्टाचार्य
प्रशासनिक चिंतक  प्रसाद एवं प्रसाद 
नोट : उपरोक्त किताबों के अतिरिक्त ‘प्रशासनिक सुधार आयोग (ARC)’ के रिपोर्ट से भी कई सवाल पूछे जाते हैं |

अन्य महत्वपूर्ण लिंक :

Leave a Comment

Your Mobile number and Email id will not be published.

*

*