मनोविज्ञान पुस्तक सूचि

मनोविज्ञान इनसान की मानसिक अवस्था और उसके वयवहार का वैज्ञानिक अध्ययन है | इस विषय में हम और भी कई चीजों का अध्ययन करते हैं जैसे चिंतन एवं समस्या समाधान, व्यक्तित्व , स्वास्थ्य एवं चिकित्सात्मक उपागम, इनसान के कार्यात्मक तथा संगठनात्मक व्यवहार, शिक्षा ,पर्यवरण एवं सूचना प्रौद्योगिकी और जनसंचार में मनोविज्ञान के  अनुप्रयोग इत्यादि | इस लेख में आप मनोविज्ञान विषय पर लिखी गई महत्वपूर्ण किताबों की जानकारी पा सकेंगे | मुख्य परीक्षा में मनोविज्ञान के सम्पूर्ण पाठ्यक्रम की जानकारी के लिए देखें हमारा हिंदी लेख वैकल्पिक विषय मनोविज्ञान का पाठ्यक्रम | मुख्य परीक्षा में आप मनोविज्ञान के अलावा किस विषय का चयन वैकल्पिक विषय के तौर पर कर सकते हैं इसकी जानकारी के लिए नीचे दी गई तालिका देखें |

पाठक  लिंक किए गए लेख में आईएएस हिंदी के बारे में जानकारी पा सकते हैं।  

मुख्य परीक्षा के लिए वैकल्पिक विषयों की सूचि 
(i) कृषि  विज्ञान (ii) पशुपालन एवं पशुचिकित्सा विज्ञान (iii) नृविज्ञान (iv) वनस्पति विज्ञान (v) रसायन विज्ञान (vi) सिविल इंजीनियरिंग (vii) वाणिज्य शास्त्र तथा लेखा विधि  (viii) अर्थशास्त्र (ix) विद्युत् इंजीनियरिंग (x) भूगोल (xi) भू-विज्ञान (xii) इतिहास (xiii) विधि 

(xiv) प्रबंधन (xv) गणित  (xvi) यांत्रिक  इंजीनियरिंग (xvii) चिकित्सा विज्ञान  (xviii) दर्शन  शास्त्र (xix) भौतिकी (xx) राजनीति विज्ञान एवं अतर्राष्ट्रीय  संबंध |

(xxi) मनोविज्ञान (xxii) लोक प्रशासन (xxiii) समाज  शास्त्र (xxiv) सांख्यिकी (xxv) प्राणी विज्ञान  (xxvi) निम्नलिखित भाषाओं में से किसी एक भाषा का साहित्य : असमिया , बंगाली, बोडो, डोगरी, गुजराती, हिंदी,कन्नड़, कशमीरी, कोंकणी, मैथिलि , मलयालम, मणिपुरी, मराठी, नेपाली, उड़िया , पंजाबी , संस्कृत, संथाली, सिन्धी , तमिल , तेलुगू, उर्दू व अंग्रेज़ी।
हाल के वर्षों में मनोविज्ञान विषय के IAS टॉपर (रैंक 1)

  1. शीना अग्रवाल  – 2011
  2. शुभ्रा सक्सेना   – 2008
  3. ए.कार्तिक       – 2007

मुख्य परीक्षा में वैकल्पिक विषय मनोविज्ञान के 2 पत्र होते हैं | प्रत्येक पत्र 250 अंको का होता है |  इससे  पहले कि हम मनोविज्ञान के महत्वपूर्ण पुस्तकों की जानकरी लें ,यह समझने का प्रयास करते हैं कि यूपीएससी मुख्य परीक्षा में वैकल्पिक विषय के तौर पर मनोविज्ञान के चयन के क्या क्या फायदे व चुनौतियाँ हैं |

  • मनोविज्ञान को  एक रुचिकर विषय माना जाता है | इस विषय में कई ऐसे टॉपिक्स हैं जिनका अध्ययन हमारे लिए न केवल दैनिक जीवन में बल्कि पेशेवर जीवन में भी विशेष रूप से  लाभप्रद हो सकता है | 
  • इस विषय के चयन का दूसरा लाभ यह है कि इस विषय में अध्ययन सामग्री पर्याप्त रूप से उपलब्ध  है | हिंदी माध्यम के अभ्यर्थियों के लिए भी विभिन्न कोचिंग संस्थान समय -समय पर  टेस्ट सीरीज आयोजित करते रहते हैं | 
  • विषय में कई ऐसे टॉपिक्स हैं जहाँ विद्यार्थी के दैनिक -सामाजिक अनुभव काम आ सकते हैं और जिनके लिए किसी विशेष अध्ययन की आवश्यकता नहीं | 
  • मुख्य परीक्षा में GS-4 (नीतिशास्त्र ) में मनोविज्ञान का अध्ययन अत्यंत लाभदायक हो सकता है क्योंकि दोनों पत्रों के प्रश्नों में एक साम्य देखने को मिलता है | 

चुनौती :-  मनोविज्ञान के चयन में एक चुनौती यह है कि जिन विद्यार्थियों ने इसका अध्ययन स्नातक स्तर तक नहीं किया हो उनके लिए यह एक बिलकुल  नया विषय होता  है  जिससे वो  अब तक परिचित नही  थे | प्रारम्भिक परीक्षा में भी इस विषय के अध्ययन का लाभ न्यूनतम है | 

अनुप्रयुक्त मनोविज्ञान  स्मारक स्वाई
मनोविज्ञान:एक अध्ययन  दीपक शर्मा 
मनोविज्ञान रोबर्ट बरेन
आधुनिक सामान्य मनोविज्ञान अरुण कुमार सिंह /आशीष कुमार सिंह
उच्चतर मनोविज्ञान  अरुण कुमार सिंह
शिक्षा मनोविज्ञान  एस.के.मंगल 
शिक्षा मनोविज्ञान  के.के.जमुआर (बिहार हिंदी ग्रंथ अकादमी )
शिक्षा मनोविज्ञान  एस.एस. माथुर 
व्यावहारिक मनोविज्ञान विमल अग्रवाल 
भारतीय मनोविज्ञान  रामनाथ शर्मा / रचना शर्मा
मनोविज्ञान का ऐतिहासिक परिप्रेक्ष्य डॉ.गायत्री 
सामान्य मनोविज्ञान: विषय और व्याख्या  अजिमुर्रह्मान
स्वास्थ्य मनोविज्ञान  माथुर एवं माथुर 
मनोविज्ञान में प्रयोग और परीक्षण  मो. सुलेमान 
खेल मनोविज्ञान  मोनिका वर्मा /के.के.वर्मा 
साइबरनेटिक्स और साइकोपैथोलॉजी e-पुस्तक 
NCERT 11वीं एवं 12वीं की मनोविज्ञान की  किताबें 

अन्य महत्वपूर्ण लिंक :

Leave a Comment

Your Mobile number and Email id will not be published. Required fields are marked *

*

*