यूपीएससी परीक्षा के लिए भू-विज्ञान के किताबों की सूचि

जैसा कि हम जानते हैं, यूपीएससी सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा को पास करने के बाद उम्मीदवारों को मुख्य परीक्षा के लिए यूपीएससी द्वारा प्रदत्त कुल 26 विषयों में से किसी एक वैकल्पिक विषय के चयन की अनुमति होती है | इन 26 विषयों की सूचि में भू-विज्ञान भी एक महत्वपूर्ण विषय है | इस लेख में हम आपको भू-विज्ञान के महत्वपूर्ण किताबों की जानकरी देंगे | भू-विज्ञान के सम्पूर्ण पाठ्यक्रम की जानकारी के लिए देखें हमारा हिंदी पेज भू-विज्ञान पाठ्यक्रम |

वैकल्पिक विषय के तौर पर अभ्यर्थियों के बीच भू-विज्ञान की लोकप्रियता का एक महत्वपूर्ण कारण यह है कि इस विषय का पाठ्यक्रम सीमित एवं निश्चित है | समय के साथ पाठ्यक्रम एवं सवालों में बहुत ज्यादा बदलाव देखने को नहीं मिलता | यही कारण है कि भू-विज्ञान की तैयारी में विगत वर्षों में पूछे गये सवालों की अहम भूमिका होती है | विषय की प्रकृति वैज्ञानिक (Scientific) है जिसके कारण इसे स्कोरिंग माना जाता है | साथ ही विषय के कई ऐसे हिस्से हैं जो सामान्य अध्ययन (GS Paper) में भी अभ्यर्थियों की सहायता करते हैं — विशेष कर भूगोल,भौतिकी एवं पर्यावरण अध्ययन में |

हलांकि विषय के चयन से पहले अभ्यर्थी को  यह जरूर ध्यान में रखना चाहिए की हिंदी माध्यम में इस विषय की  संसाधन-सामग्री की संख्या अन्य विषयों की तुलना में सीमित है |   

नीचे हिंदी माध्यम के अभ्यर्थियों के लिए भू-विज्ञान के महत्वपूर्ण किताबों की सूचि दी गई है :-

भू-विज्ञान : एक परिचय  बिहार हिंदी ग्रंथ अकादमी
भू-आकृति विज्ञान  बी.सी. जट  
भू-आकृति विज्ञान  सविन्द्र सिंह 
प्रायोगिक भू-विज्ञान  मध्य प्रदेश हिंदी ग्रंथ अकादमी
भारत में समुद्री भू-विज्ञान का इतिहास प्रेम चन्द्र श्रीवास्तव
मृदा विज्ञान के मूल तत्व अवधेश प्रताप सिंह
जीवाश्म विज्ञान चन्द्र प्रकाश  शुक्ल
भूगर्भ शास्त्र  संजय गुप्ता 
सुदूर संवेदन  प्रियंका ओझा 
भौतिक भूगोल माजिद हुसैन
नोट : उपरोक्त वर्णित किताबों के अतिरिक्त भू-विज्ञान के लिए IGNOU तथा बिहार एवं मध्य प्रदेश हिंदी ग्रंथ अकादमी की तरफ से भी कई किताबें प्रकाशित की गई हैं जिन्हें अभ्यर्थी पढ़ सकते हैं | 

अन्य महत्वपूर्ण लिंक:

Leave a Comment

Your Mobile number and Email id will not be published.

*

*