दादा साहेब फाल्के पुरस्कार

दादा साहेब फाल्के पुरस्कार भारतीय फिल्म जगत में उत्कृष्ट  योगदान के लिए दिया जाने वाला सर्वोच्च पुरस्कार है | यह भारतीय फिल्म जगत के  पितामह कहे जाने वाले  महाराष्ट्र के  फिल्म निर्माता, निर्देशक व पट-कथा लेखक

धुन्दिराज गोविन्द फाल्के के सम्मान में दिया जाता है | 2019 के लिए यह सम्मान प्रसिद्द अभिनेता रजनीकांत को तमिल एवं हिंदी सीनेमा में महत्वपूर्ण योगदान के लिए दिया गया है | यह सम्मान पाने वाले वह 51वें कलाकार हैं | उन्हें 67वें  राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के अवसर पर सम्मानित किया गया |

नीचे तालिका में अब तक के सभी दादा साहेब फाल्के पुरस्कार पाने वाले कलाकारों की सूचि दी गई है | अंग्रेजी माध्यम में इस लेख को पढने के लिए देखें Dada Sah3b Phalke Award

पाठक  लिंक किए गए लेख में आईएएस हिंदी के बारे में जानकारी पा सकते हैं।

दादा साहेब फाल्के पुरस्कार पाने वाले विजेताओं  की सूचि
क्रम वर्ष  कलाकार एवं सम्बद्ध भाषा 
1 1969 देविका रानी चौधरी,अभिनेत्री ( हिन्दी)
2 1970 बी॰ एन॰ सरकार,निर्माता (बंगाली)
3 1971 पृथ्वी राज कपूर (मरणोंपरांत),अभिनेता (हिन्दी)
4 1972 पंकज मलिक,संगीतकार (बंगाली /हिंदी )
5 1973 रूबी मेयर्स सुलोचना,अभिनेत्री (हिन्दी)
6 1974 बोम्मि रेड्डी नरसिम्हा रेड्डी,निर्देशक (तेलगु)
7 1975 धीरेन्द्रनाथ गांगुली,अभिनेता, निर्देशक (बंगाली)
8 1976 कानन देवी,अभिनेत्री (बंगाली)
9 1977 नितिन बोस,छायाकार, निर्देशक, लेखक ( बंगाली)
10 1978 राय चन्द बोराल,संगीतकार, निर्देशक ( बंगाली)
11 1979 सोहराब मोदी,अभिनेता, निर्देशक, निर्माता (हिन्दी)
12 1980 पैडी जयराज,अभिनेता, निर्देशक (तेलुगु/हिन्दी)
13 1981 नौशाद अली ,संगीतकार (हिन्दी)
14 1982 एल॰ वी॰ प्रसाद,अभिनेता, निर्माता, निर्देशक (तेलगु/तमिल )
15 1983 दुर्गा खोटे ,अभिनेत्री ( हिन्दी/मराठी)
16 1984 सत्यजीत रे ,निर्देशक (बंगाली/हिंदी )
17 1985 वी शांताराम ,अभिनेता, निर्माता, निर्देशक ( हिन्दी/मराठी)
18 1986 बी॰ नागि रेड्डी ,निर्माता (तेलगु)
19 1987 राज कपूर,अभिनेता, निर्देशक,निर्माता (हिन्दी)
20 1988 अशोक कुमार ,अभिनेता (हिन्दी)
21 1989 लता मंगेशकर ,पार्श्वगायिका
22 1990 अक्किनेनी नागेश्वर राव ,अभिनेता (तेलगु)
23 1991 भालजी पेंढारकर,निर्देशक, निर्माता, लेखक (मराठी )
24 1992 भूपेन हजारिका ,पार्श्वगायक/संगीतकार (असमिया/बंगला /हिंदी)
25 1993 मजरुह सुल्तानपुरी ,गीतकार (हिन्दी)
26 1994 दिलीप कुमार,अभिनेता (हिन्दी)
27 1995 राजकुमार,अभिनेता (कन्नड़)
28 1996 शिवाजी गणेशन,अभिनेता (तमिल )
29 1997 कवि प्रदीप,गीतकार (हिन्दी)
30 1998 बी. आर.  चोपड़ा, निर्माता, निर्देशक (हिन्दी)
31 1999 हृषिकेश मुखर्जी , निर्देशक (हिन्दी )
32 2000 आशा भोंसले,पार्श्व गायिका  
33 2001 यश चोपड़ा,निर्माता, निर्देशक (हिन्दी)
34 2002 देव आनंद,अभिनेता, निर्माता, निर्देशक (हिन्दी)
35 2003 मृणाल सेन,निर्देशक (बंगाली)
36 2004 अदूर गोपालकृष्णन ,निर्देशक (मलयालम)
37 2005 श्याम बेनेगल,निर्देशक (हिन्दी)
38 2006 तपन सिन्हा ,निर्देशक ( बंगाली/हिंदी )
39 2007 मन्ना डे, पार्श्व गायक
40 2008 वी के मूर्ती ,छायाकार
41 2009 डी रामानायडू,निर्माता, निर्देशक (तेलगु)
42 2010 के बालाचंदर,निर्देशक ( तमिल/तेलगु)
43 2011 सौमित्र चटर्जी,अभिनेता (बंगाली)
44 2012 प्राण,अभिनेता (हिन्दी)
45 2013 गुलजार ,गीतकार ,निर्माता (हिन्दी)
46 2014 शशि कपूर ,अभिनेता (हिन्दी)
47 2015 मनोज कुमार ,अभिनेता (हिन्दी)
48 2016 कसीनथुनी विश्वनाथ ,निर्देशक (तेलगु)
49 2017 विनोद खन्ना ,अभिनेता (हिन्दी)
50 2018 अमिताभ बच्चन ,अभिनेता (हिन्दी)
51 2019 रजनीकांत ,अभिनेता (हिंदी/तमिल )  
रजनीकांत :

1975 में के.बालाचंदर की फिल्म “अपूर्व रागंगल” से अपने करियर की शुरुआत करने वाले तमिल सिनेमा के अभिनेता रजनीकांत जिनका मूल नाम शिवाजी राव गाएकवाड़ है अब हिंदी सिनेमा में भी एक स्थापित कलाकार हैं | उन्होंने 160 से भी अधिक फिल्मों में काम किया है और उन्हें भारत सरकार के द्वारा कई बड़े सम्मानों से सम्मानित किया जा चुका है |

परीक्षोपयोगी मुख्य बिंदु 

  • दादा साहेब फाल्के पुरस्कार की शुरुआत 1969 से हुई. 
  • यह पुरस्कार भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के अवसर पर  दिया जाता है. 
  • इसके तहत एक स्वर्ण कमल , शाल व 10 लाख रूपये की नकद राशी दी जाती है. 
  • हिंदी फिल्म अभिनेत्री देविका रानी चौधरी  दादा साहेब फाल्के पुरस्कार पाने वाली प्रथम विजेता थीं  जिन्हें 17वें  राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में इससे सम्मानित किया गया. 
  • 2021  में यह सम्मान पाने  वाले कलाकार अभिनेता  रजनीकांत हैं | उन्हें यह पुरस्कार 2019 के लिए दिया गया है | 2019 के बाद से कोरोना वैश्विक महामारी के कारण यह समारोह स्थगित कर दिया गया है.

दादा साहब फाल्के कौन थे ?

धुन्दिराज गोविन्द फाल्के (1870-1944) जो कि दादा साहब फाल्के के नाम से अधिक लोकप्रिय हैं , को भारतीय फिल्म जगत का पितामह कहा जाता है | वह महाराष्ट्र के एक फिल्म निर्माता,निर्देशक व पट-कथा लेखक  थे | उनकी फिल्म “राजा हरिश्चन्द्र” (1913 में बनी) को भारत की पहली फीचर फिल्म होने का गौरव प्राप्त है  | दादा साहब ने कुल 95 फीचर फ़िल्में बनाई थीं जिनमे से कुछ  प्रसिद्ध फ़िल्में हैं :- कालिया मर्दन, श्री कृष्ण जन्म , मोहिनी भस्मासुर, लंका दहन, सत्यवान सावित्री इत्यादि |

नोट : राजा हरिश्चन्द्र एक मूक (mute) फिल्म थी | भारत की पहली बोलती (sound) फिल्म अर्देशिर इरानी द्वारा निर्मित फिल्म  “आलमआरा” (1931) थी |

अन्य महत्वपूर्ण लिंक :

Leave a Comment

Your Mobile number and Email id will not be published.

*

*